How to Study Like a Topper [Hindi]

7 Min. Read

How to Study Like a Topper? प्रत्येक छात्र अपनी कक्षा, स्कूल, कॉलेज/यूनिवर्सिटी एवं बोर्ड एग्जाम में टॉपर बनना चाहता है। इस लेख में, मैं आपको कुछ टिप्स एंड ट्रिक्स बताऊंगा जिन्हे अपनाकर आप भी 100% गॉरन्टी के साथ टॉपर बन सकते है। ये टिप्स कोई व्याख्या नहीं है, बल्कि फैक्ट्स है। आप इन टिप्स एंड ट्रिक्स को अपनाकर किसी भी एग्जाम में टॉपर बन सकते है एवं अच्छे कॉलेज में एडमिशन ले सकते है। इसके आलावा आप किसी भी कॉम्पिटिशन को आसानी से Crack कर सकते है।

How to Study Like a Topper लेख को शुरू करने से पहले मैंने लगभग 30-40 टोप्पर्स के इंटरव्यू देखें एवं पढ़े एवं उनका जो सार निकला वो यंहा लिख रहा हूँ। सबसे महत्वपूर्ण बात जो सामने आयी वो यह थी कि न ही तो किसी टॉपर ने यह सोचा कि वह टॉप करेगा और न ही किसी को इसकी उम्मीद थी। इसलिए मेरी पर्सनल सलाह है की आप टॉप करने के बारे में बिल्कुल मत सोचिये बजाय इसके लगातार प्रयास करते रहिये।

यह रहे How to Study Like a Topper के सबसे महत्वपूर्ण टिप्स एवं ट्रिक्स –

1. Set Your Goal – लक्ष्य निर्धारित करें।

सबसे पहले आप अपना लक्ष्य निर्धारित कीजिये। आपका लक्ष्य कुछ भी हो सकता है, जैसे – कक्षा 10वीं में 75%, कक्षा 12वीं में 80%, ग्रेजुएशन में यूनिवर्सिटी टॉपर, IIT JEE, MBBS या सिविल सर्विसेज एग्जाम में अच्छी रैंक लेकर आना। लेकिन लक्ष्य होना जरूरी है। साथ में आपको ये भी पता होना चाहिए कि आपने उस लक्ष्य को चुना क्यों? जब आप अपने लक्ष्य से संतुष्ट हो जाओ तब पूरी ऊर्जा एवं तन-मन के साथ उस लक्ष्य की तरफ कदम बढ़ाना शुरू कर दो और मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ, आपको अपना लक्ष्य हासिल करने से दुनिया की कोई ताकत नहीं रोक सकती।

कोई काम शुरू करने से पहले, स्वंयम से तीन प्रश्न कीजिये – मैं ये क्यों कर रहा हूँ, इसके परिणाम क्या हो सकते हैं और क्या मैं सफल होऊंगा. और जब गहराई से सोचने पर इन प्रश्नों के संतोषजनक उत्तर मिल जायें,तभी आगे बढें।

-चाणक्य

2. Plan Your Time – समय को प्लान करें।

किसी वृक्ष को काटने के लिए आप मुझे छ: घंटे दीजिये और मैं पहले चार घंटे कुल्हाड़ी की धार तेज करने में लगाऊंगा।

— अब्राहम लिंकन

आपको स्कूल टाइम के आलावा जो भी स्टडी टाइम मिलता है, उसका सदुपयोग बहुत आवश्यक है। आप अपने समय को M-D-H (महीना-दिन-घंटे) में बाँटिये। इससे आपको आईडिया लग जायेगा कि आपको रोज कितना Syllabus कवर करना है। आप चाहें तो syllabus को समयानुसार अलग-अलग यूनिट्स में बाँट सकते है। अब आप एक टाइम लाइन बनाइये एवं रोजाना इस टाइम लाइन के अनुसार पढ़ाई करें।

प्रत्येक रात को सोने से पहले अगले दिन की प्लानिंग कीजिये एवं एक टारगेट सेट कीजिये की मुझे ये टास्क कम्पलीट करने है। सरल भाषा में कह सकते है कि आप एक To Do लिस्ट बनाइये। इसके साथ-साथ आज आपने जो टास्क कम्पलीट किये है उन्हें भी अपनी To Do लिस्ट में मार्क कर दीजिये। इससे आपका आत्म विश्वास बढ़ेगा, माइंड रिलैक्स होगा एवं रात को नींद भी अच्छी आयेगी।

3. Execute Your Plan – प्लान को लागू करे।

आपका लक्ष्य भी निश्चित है एवं उस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आपके पास प्लान भी है। लेकिन सिर्फ प्लान मात्र से आप लक्ष्य हासिल नहीं कर सकते। आपको प्रत्येक दिन उस प्लान को लागू करना पड़ेगा। आपको निर्धारित किये हुए रास्ते पर चलना पड़ेगा। उस रास्ते में बाधाएँ भी आयेगी लेकिन उनको पार करना पड़ेगा। आपकी तबियत भी खराब हो सकती है, सर्दी जुकाम भी हो सकता है, घर पर मेहमान भी आ सकते है, लेकिन इन सबको मैनेज करते हुए आपको अपने रास्ते पे आगे बढ़ना है।

4. Self-Discipline – स्व-अनुशाषन।

“अनुशासन ही अपने जीवन के उद्देश्य और उपलब्धि के बीच का सेतु है।”

— Jim Rohn

स्व-अनुशाषन ही एक मात्र रास्ता है जो आपको अपने लक्ष्य तक पहुँचा सकता है। आपने जो निश्चय किया है उसको सख्ती से पालन करना बोरिंग और नीरस हो सकता है परन्तु उसको फॉलो करना ही होगा।

5. Attendance – उपस्थिति।

आप चाहें माने या ना मानें लेकिन सभी क्लासेज अटेंड करना बहुत जरुरी है। यदि आपने एक भी क्लास मिस कर दी तो आगे जाकर आपके लिए समस्या हो सकती है। इसके आलावा जो टॉपिक आपने मिस किया है उसको खुद से समझने में समय भी ज्यादा लगेगा और कुछ महत्वपूर्ण कॉन्सेप्ट छूट भी सकते है। क्लास मिस करने की वजह से आपकी निरन्तरता टूट जाती है एवं उसको वापिस हासिल करने में काफी समय लग जाता है। इसलिए कोशिश करें की कोई भी क्लास मिस न हो।

6. Constant Revision – रिविज़न।

किसी भी एग्जाम को टॉप करने के लिये रिवीजन बहुत महत्वपूर्ण है। आपके पास रिवीजन के लिए भी एक अच्छा प्लान होना चाहिये। रिवीजन की शुरुआत पहले दिन से ही कर देनी चाहिये। रिवीजन का सबसे बढ़िया तरीका है कि जो भी आज आपने स्कूल/कोचिंग में सीखा उसे घर पर बिना देखे दोहराएँ फिर सप्ताह में एक बार, महीने में एक बार एवं फिर टेस्ट के दौरान रिवीजन करें। एग्जाम के समय तो सिर्फ रिवीजन ही करना चाहिये।

Bonus: रिवीजन के समय आप जिन पॉइंट्स को भूल जाते है उन पॉइंट्स के नोट्स बना लीजिये। इस प्रकार आपके पास उन पॉइंट्स के नोट्स तैयार हो जायेंगे जिनको आप बार-बार भूल जाते है एवं एग्जाम के समय केवल इन पॉइंट्स का ही रिवीजन कर लेने से आपका रिवीजन पूरा हो सकता है।

7. Sample/Previous Years’ Papers – लास्ट ईयर पेपर्स।

Practice Makes a Man Perfect.अभ्यास ही मनुष्य को परिपूर्ण बनाता है।

CBSE बोर्ड परीक्षा में 2nd टॉपर रही भूमि सांवत ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया की उन्होंने बोर्ड एग्जाम से पहले कई सैंपल/प्रैक्टिस पेपर एवं पिछले वर्षों के पेपर सॉल्व किये थे। बहुत सारे सैंपल पेपर एवं प्रैक्टिस पेपर सॉल्व करने के बाद वह अपनी सफलता के लिए काफी हद तक निश्चित हो गयी थी।
सैंपल/प्रैक्टिस एवं पिछले वर्षों के पेपर सॉल्व करने से आपको एक आईडिया लग जाता है कि एग्जाम में किस प्रकार के प्रश्न पूछे जाते है, प्रश्नों का डिफीकल्टी लेवल क्या होता है इत्यादि। इसके साथ आपको ये भी पता लग जाता है कि कोनसे टॉपिक ऐसे है जिनमें से हर वर्ष एग्जाम में प्रश्न पूछे ही जाते है एवं आप उन महत्वपूर्ण टॉपिक्स की अच्छे से तैयारी कर सकते है। पिछले वर्षो के पेपर सॉल्व करने के बाद आपका कॉन्फिडेंस लेवल भी काफी बढ़ जाता है।

8. Understand More, Memorize Less – कम रटें, ज्यादा समझे।

आपको कभी भी रट्टा नहीं मरना चाहिये बल्कि कॉन्सेप्ट एवं लॉजिक को ज्यादा से ज्यादा समझने की कोशिश करनी चाहिये। रट्टा मारने का सबसे बड़ा नुकसान तो ये है कि आप थोड़े समय बाद ही चीजों को भूलने लग जाते है। इसके आलावा परीक्षा में हर साल एक ही तरह के सवाल नहीं पूछे जाते उनमे कुछ न कुछ चेंज जरूर होता एवं इस स्थिति में रट्टा पद्धति फ़ैल हो जाती है। हाँ ये हो सकता है की आप Equations एवं Formulas को याद कर सकते है एवं उनसे संबंधित सवालों का अच्छे से अभ्यास कर लेवे।

9. Use Social Media For Limited Time – सोशल मीडिया का सीमित प्रयोग।

मैं ये तो नहीं कहूंगा की आप फेसबुक एवं व्हाट्सप्प बिल्कुल ही यूज़ ना करें। आप थोड़ी देर के लिए उन्हें यूज़ कर सकते है। यदि आप 80% टाइम पढाई कर रहें है तो कुछ समय के लिए खेल भी सकते है एवं सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों से बातचीत कर सकते है। इससे आपका मूड रिफ्रेश रहेगा। परन्तु यदि आप सोशल मीडिया के यूज़ को कंट्रोल नहीं कर पा रहे है तो फिर एग्जाम तक इसका यूज़ बिल्कुल बंद कर देना चाहिये। वास्तव में होता ये है कि जब हम सोशल मीडिया यूज़ करते है तो पढाई के वक्त भी आपका ध्यान उस तरफ रहता है एवं आप अपना 100% स्टडी में नहीं दे पाते है।

10. Be Motivated –

एग्जाम होने से पूर्व ही उसके रिजल्ट के बारें में सोचना एवं नर्वस होना सिर्फ समय की बर्बादी है। आप तो अपना बेस्ट देने की कोशिश करे। आपका टारगेट टॉपर बनना न हो के एग्जाम में अपना बेस्ट देना होना चाहिये। आप अपने आत्म विश्वास को बनाये रखें एवं आगे बढ़ते जाये। यदि तैयारी के दौरान किसी टेस्ट में आपकी परफॉरमेंस खराब भी हो जाती है तो अपनी गलतियों को सुधारने की कोशिश करें। कभी भी यह न सोचे की मुझसे ये नहीं होगा। अपनी मेहनत एवं तैयारी के प्रति आश्वस्त रहे।

Related Article-

In conclusion यदि आपको How to Study Like a Topper से संबंधित यह पोस्ट अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिये। यदि आप Personal  Career Counseling चाहते है तो मुझसे संपर्क कर सकते है।

Meanwhile,How to Study Like a Topper के लिये आपके सुझाव और शिकायतें आमंत्रित है। कृपया निचे दिए गए कमेंट बॉक्स का उपयोग कर मुझसे संपर्क करें।

करियर गाइडेंस से संबंधित नवीन जानकारी अपने ईमेल बॉक्स में प्राप्त करने के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करे।

Leave a Comment