How to Become Engineer in Hindi – इंजीनियर कैसे बनें।

8 Min. Read

How to Become Engineer in Hindi. इंजीनियरिंग एक प्रोफेशनल डिग्री कोर्स है। यह कोर्स 12वीं कक्षा साइंस से करने के बाद किया जा सकता है।इसको पूरा करने में 4 वर्ष लगते है। इसमें 8 सेमेस्टर होते है। हर सेमेस्टर में आपको 5 या 6 सब्जेक्ट्स पढ़ाये जाते है। इसके साथ-साथ हर सेमेस्टर में 2 या 3 प्रैक्टिकल लैब्स होती है। हर सेमेस्टर में 2 मिडटर्म टेस्ट एवं एक फाइनल एग्जाम होता है।

इंजीनियरिंग आपको किसी विशेष ब्रांच में करनी होती है। मेरी आपको यहाँ सलाह है की ब्रांच का चुनाव आपकी रूचि एवं योग्यता के अनुसार ही करना चाहिए। यदि आप ब्रांच का चुनाव अपनी रूचि के मुताबिक करते है तो आप अपना best दे पाएंगे। जो आगे आपके लिए कामयाबी के रास्ते खोलेगा।

Eligibility for Engineering – इंजीनियरिंग में दाखिला लेने के लिए योग्यता

  • 12वीं कक्षा में कम से कम 60% के साथ उत्तीर्ण होना।
  • 12वीं कक्षा फिजिक्स, केमिस्ट्री एवं मैथ्स के साथ होना आवश्यक है।
  • विभिन्न प्रकार की इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा में अच्छी रैंक हासिल करना।
  • Note : However कुछ इंस्टीटूट्स 60% से कम अंक होने पर भी प्रवेश दे देते है। एवं यदि आप इंजीनियरिंग बायोटेक्नोलॉजी, बायो-मेडिकल इंजीनियरिंग एवं जेनेटिक इंजीनियरिंग ब्रांच से करते है तो आपके पास 12वीं में बायोलॉजी होना आवश्यक है।

Engineering Entrance Exams – इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाएं

इंजीनियरिंग में प्रवेश के लिए हर साल कई प्रतियोगी परीक्षाएं आयोजित होती है। इन परीक्षाओ को मुख्यतः तीन categories में बाँट सकते है For Example-

  • नेशनल लेवल इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम।
  • स्टेट लेवल इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम।
  • यूनिवर्सिटी लेवल इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम।

आइये अब इनमे से कुछ विशेष परीक्षाओ के बारे में विस्तार से जानते है।

How to Become Engineer in Hindi through JEE(Main) – जॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन(Main)

2019 से यह परीक्षा NTA यानि की नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा आयोजित की जाएगी। However 2018 तक यह परीक्षा सीबीएसई द्वारा आयोजित की जाती थी। इस परीक्षा के माध्यम से NITs, IIITs, एवं CFTIs में दाखिला मिलता है।इस परीक्षा में बैठने के लिए निम्न योग्यता आवश्यक है –

  • कम से कम 75% अंको के साथ 12वीं कक्षा उत्तीर्ण होना आवश्यक है।
  • SC/ST के लिए कम से कम 65% अंको के साथ 12वीं कक्षा उत्तीर्ण होना आवश्यक है।
  • इसके साथ-साथ 12वीं कक्षा 5 विषयो के साथ पास होना जरुरी है।
  • अधिकतम 3 attempts allowed है।
  • फिजिक्स एवं मैथ्स होना आवश्यक है।
  • केमिस्ट्री या बायोलॉजी या बायोटेक्नोलॉजी में से एक सब्जेक्ट होना आवश्यक है।
  • अधिक जानकारी के लिए JEE(Main) की अधिकारिक वेबसाइट देखें।

How to Become Engineer in Hindi through JEE(Advanced) – जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम(Advanced)

यह परीक्षा किसी एक IIT संस्थान द्वारा भारत एवं विदेशों में भी आयोजित की जाती है। यह परीक्षा सभी IITs, ISM धनबाद एवं BHU वाराणसी में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है। इस परीक्षा में बैठने के लिए अभ्यर्थी को JEE(Main) में निर्याणक अंक प्राप्त करने होते है। इस परीक्षा के लिए अधिकतम दो प्रयास किये जा सकते है। अधिक जानकारी के लिए JEE(Advanced) की अधिकारिक वेबसाइट देखें।

How to Become Engineer in Hindi through BITSAT- BITS पिलानी प्रवेश परीक्षा

बिड़ला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी(बिट्स पिलानी/ BITS Pilani ) भारत के सबसे पुराने एवं अग्रणी संस्थानों में से एक है। यह परीक्षा बिड़ला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी के पिलानी, गोआ एवं हैदराबाद कैंपस में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है। इस परीक्षा में बैठने के लिए 12 वीं कक्षा कम से कम 75% अंको के साथ पास होना अनिवार्य है। इसके लिए आप अधिकतम दो प्रयास कर सकते है। However प्रत्येक बोर्ड के उच्च माध्यमिक परीक्षाओं के सर्वश्रेष्ठ विद्यार्थियों (Toppers) को बिट्स के किसी भी कैम्पस में सीधे प्रवेश की सुविधा है। BITSAT परीक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री एवं मैथ्स/बायोलॉजी के आलावा इंग्लिश एवं लॉजिकल रीजनिंग से संबंधित प्रश्न भी पूछे जाते है। अधिक जानकारी के लिए बिट्स एडमिशन की आधिकारिक वेबसाइट देखें।

How to Become Engineer in Hindi through VITEEE – VIT वेल्लौर प्रवेश परीक्षा

VIT वेल्लोर एक प्राइवेट डीम्ड यूनिवर्सिटी है। VIT वेल्लोर को NIRF- ARIIA (अटल रैंकिंग ऑफ़ इंस्टीटूशन फॉर इनोवेशन अचीवमेंट) 2019 द्वारा 1st रैंक प्रदान की गयी है। यह परीक्षा वेल्लोर इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी के वेल्लोर, चेन्नैई, अमरावती एवं भोपाल कैंपस में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है। इस परीक्षा में बैठने के लिए 12वीं कक्षा कम से कम 60% अंको के साथ पास होना अनिवार्य है। इस परीक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री एवं मैथ्स/बायोलॉजी के आलावा इंग्लिश लैंग्वेज से संबंधित प्रश्न भी पूछे जाते है। यदि आपने 12वीं कक्षा ओपन स्कूलिंग से की है तो आप इस परीक्षा के लिए पात्र नहीं है। अधिक जानकारी के लिए VIT वेल्लोर की आधिकारिक वेबसाइट देखें।

How to Become Engineer in Hindi through SRMJEEE – SRM जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम

SRM जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम, SRM इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी द्वारा बी.टेक प्रोग्राम में प्रवेश के लिए आयोजित करवाया जाता है। इस एग्जाम में बैठने के लिए कक्षा 12वीं में कम से कम 50% अंको के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है। इस परीक्षा में केवल फिजिक्स, केमिस्ट्री एवं मैथ्स से संबंधित ही प्रश्न पूछे जाते है। प्रत्येक सेंट्रल एवं राज्य बोर्ड के फर्स्ट रैंकर को डायरेक्ट एडमिशन दिया जाता है। इसके आलावा IIT JEE में 1000 रैंक तक एवं तमिलनाडु के प्रत्येक डिस्ट्रिक्ट टोपर को डायरेक्ट एडमिशन दिया जाता है। अधिक जानकारी के लिए SRM यूनिवर्सिटी की आधिकारिक वेबसाइट देखें।

How to Become Engineer in Hindi through NMIMS-NPAT एग्जाम

NPAT एग्जाम 12वीं कक्षा के बाद नरसी मोंजी इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज(NMIMS) के मैनेजमेंट एवं इंजीनियरिंग प्रोग्राम में एडमिशन के लिए आयोजित किया जाता है। इस एग्जाम के द्वारा NMIMS के मुंबई, बेंगलुरु,शिरपुर, इंदौर, नवी मुंबई आदि कैंपस में प्रवेश दिया जाता है। NMIMS, NAAC द्वारा A+ एक्रिडेटेड एवं MHRD द्वारा केटेगरी-1 यूनिवर्सिटी है।इस एग्जाम में बैठने के लिए कक्षा 12वीं में कम से कम 50% अंको के साथ उत्तीर्ण होना आवश्यक है। इस परीक्षा फिजिक्स, केमिस्ट्री एवं मैथ्स के आलावा इंग्लिश एवं लॉजिकल इंटेलिजेंस के भी सवाल पूछे जाते है। यदि आपकी आयु 25 वर्ष से अधिक है तो आप इस परीक्षा में बैठने के पात्र नहीं है। अधिक जानकारी के लिए NMIMS की आधिकारिक वेबसाइट देखें।

How to Become Engineer in Hindi
How to Become Engineer in Hindi

अन्य इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाएँ

उपरोक्त परीक्षाओं के आलावा देशभर में और भी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाएँ आयोजित की जाती है। इन परीक्षाओं की सूचि निचे दे रहा हूँ। आप संबंधित परीक्षा के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करके अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते है। सूची इस प्रकार है –

  1. नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर।
  2. EPSI नेशनल एडमिशन टेस्ट।
  3. प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर कॉमन एंट्रेंस टेस्ट।
  4. ATIT.
  5. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी।
  6. हिंदुस्तान यूनिवर्सिटी, चेन्नई।
  7. विस्वेसर्या टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी।
  8. महाराष्ट्रा कॉमन एंट्रेंस टेस्ट।
  9. वेस्ट बंगाल जॉइंट एंट्रेंस एग्जाम बोर्ड।

Engineering Branches – इंजीनियरिंग ब्रांचेज

जैसे की मैंने आपको ऊपर बताया की इंजीनियरिंग आपको किसी विशेष ब्रांच में करनी होती है। भारत में इंजीनियरिंग की 35 से अधिक ब्रांचे है जिनकी सूची निम्न प्रकार है –

  • एयरोस्पेस टेक्नोलॉजी।
  • एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग।
  • बायोटेक्नोलॉजी।
  • बायोकैमिकल इंजीनियरिंग।
  • बायोलॉजिकल साइंस।
  • सिरेमिक टेक्नोलॉजी।
  • केमिकल इंजीनियरिंग।
  • सिविल इंजीनियरिंग।
  • कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग।
  • डेयरी टेक्नोलॉजी।
  • इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग।
  • इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग।
  • इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग।
  • फ़ूड टेक्नोलॉजी।
  • इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंस्ट्रूमेंटेशन।
  • मरीन इंजीनियरिंग।
  • माइनिंग टेक्नोलॉजी।
  • नवल आर्किटेक्चर।
  • ओसियन टेक्नोलॉजी।
  • पेट्रोलियम इंजीनियरिंग।
  • प्लास्टिक टेक्नोलॉजी।
  • प्रोडक्शन इंजीनियरिंग।
  • टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी।

Top 50 Engineering Colleges In India – भारत के टॉप 50 इंजीनियरिंग कॉलेज

नेशनल इंस्टिट्यूट रैंकिंग फ्रेमवर्क जो प्रत्येक वर्ष पुरे भारतवर्ष में इंस्टीटूट्स को रैंकिंग प्रदान करता है। For Example इस फ्रेमवर्क के अनुसार भारत के टॉप 50 कॉलेजेस की सूची निम्न प्रकार है –

  1. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मद्रास।
  2. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी दिल्ली।
  3. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मुंबई।
  4. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी खडग़पुर।
  5. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी कानपुर।
  6. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी रुड़की।
  7. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी गुवाहाटी।
  8. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी हैदराबाद।
  9. अन्ना यूनिवर्सिटी।
  10. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी तिरुचारपली।
  11. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी(बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी) वाराणासी।
  12. इंस्टिट्यूट ऑफ़ केमिकल टेक्नोलॉजी महाराष्ट्र।
  13. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी इंदौर।
  14. जादवपुर यूनिवर्सिटी।
  15. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी(इंडियन स्कूल ऑफ़ माइंस) धनबाद।
  16. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी राउरकेला।
  17. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी भुवनेश्वर।
  18. वेल्लोर इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी।
  19. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग साइंस एंड टेक्नोलॉजी शिबपुर।
  20. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मंडी।
  21. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी कर्नाटका।
  22. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी पटना।
  23. थापड़ इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी पटियाला।
  24. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी गांधीनगर।
  25. बिड़ला इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी पिलानी।
  26. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी वारांगल।
  27. जामिआ मिलिया इस्लामिआ।
  28. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी कालीकट।
  29. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी रोपड़।
  30. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ स्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी।
  31. विस्वेसर्या नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी नागपुर।
  32. Siksha O Anusandhan भुवनेशवर।
  33. बिड़ला इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी राँची।
  34. दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी।
  35. एमिटी यूनिवर्सिटी।
  36. SRM इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी।
  37. Sri Sivasubramaniya Nadar College of Engineering.
  38. Shanmugha Arts Science Technology & Research Academy.
  39. इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी हैदराबाद।
  40. अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी।
  41. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी कुरुक्षेत्र।
  42. मोतीलाल नेहरू नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी ईलाहाबाद।
  43. मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी मणिपाल।
  44. PSG कॉलेज ऑफ़ टेक्नोलॉजी।
  45. जवाहर लाल नेहरू टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी हैदराबाद।
  46. नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी दुर्गापुर।
  47. Sathyabama Institute of Science and Technology Chennai.
  48. कलिंगा इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी भुवनेशवर।
  49. कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग पुणे।
  50. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी जोधपुर।

Future Career Prospects – कैरियर सम्भावनाएँ

इंजीनियरिंग करने के बाद आपके कैरियर के लिए कई रास्ते खुल जाते है। आप प्राइवेट एवं सरकारी दोनों क्षेत्रो में जा सकते है।यदि आप आगे की पढाई जारी रखना चाहते है तो आप मास्टर्स डिग्री कर सकते है। यदि आप नौकरी करना चाहते है तो वो भी कर सकते है। For Example कुछ महत्वपूर्ण कैरियर ऑप्शन्स की सूची निचे दे रहा हूँ –

  1. किसी टेक्निकल कंपनी में काम कर सकते है।
  2. टेक्निकल लाइन में ही हायर स्टडीज कर सकते है।
  3. मैनेजमेंट फील्ड में हायर स्टडीज कर सकते है।
  4. रिसर्च फील्ड में जा सकते है।
  5. सिविल सेवा की तैयारी कर सकते है।
  6. इंडियन रेलवे में जा सकते है।
  7. इंडियन इंजीनियरिंग सर्विसेज में जा सकते है।
  8. मर्चेंट नेवी जॉइन कर सकते है।
  9. बैंकिंग सेक्टर में जॉब कर सकते है।
  10. अपना खुद का बिज़नेस स्टार्ट कर सकते है।
  11. टीचिंग लाइन में जा सकते है।
  12. इंडियन आर्मी जॉइन कर सकते है।
  13. एस.एस.सी की तैयारी कर सकते है।

Beware of Private colleges – प्राइवेट कॉलेजेज से सावधान

आजकल इंजीनियरिंग की साख काफी काम हो गयी है। इसका मुख्य कारण है की इंजीनियरिंग कॉलेजो की संख्या काफी अधिक हो गयी है। हर छोटे बड़े शहर में इंजीनियरिंग कॉलेज खुल गए है। इन कॉलेजो की आधारिक सरंचना (Infrastructure) इतनी अच्छी नहीं होती है। इसके आलावा इन कॉलेजो में फीस भी अधिक होती है तथा पढाई भी अच्छी नहीं होती है। इन कॉलेजो में प्लेसमेंट के लिए कोई बड़ी कम्पनियाँ नहीं आती है। बाद में स्टूडेंट्स को इस डिग्री के साथ नौकरी तलाश करने में काफी मेहनत करनी पड़ती है।

In conclusion यदि आपको How to Become Engineer in Hindi से संबंधित यह पोस्ट अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कीजिये। यदि आप personal  career counselling चाहते है तो मुझसे संपर्क कर सकते है।

Meanwhile आपके सुझाव और शिकायतें आमंत्रित है। कृपया निचे दिए गए कमेंट बॉक्स का उपयोग कर मुझसे संपर्क करें।

करियर गाइडेंस से संबंधित नवीन जानकारी अपने ईमेल बॉक्स में प्राप्त करने के लिए हमारे न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करे।

Leave a Comment